फ़तावा

क़ुर्बानी के वक़्त हाज़िर रेहना

सवाल – एक शख़्स ने अपनी क़ुर्बानी का जानवर ज़बह करने के लिए किसी को नियुक्त(मुक़र्रर) कर दिया, तो क्या उस के लिए ज़बह करते वक़्त हाज़िर रेहना अफ़ज़ल है?

और पढ़ो »

क़ुर्बानी के जानवर में सातवें हिस्से से कम हिस्सा लेना

सवाल – अगर क़ुर्बानी के जानवर के शुरका(हिस्सेदारों) में से किसी शरीक(हिस्सेदार) का हिस्सा सातवें हिस्से कम हो, तो क्या तमाम शुरका(हिस्सेदारों) की क़ुर्बानी दुरूस्त होगी?

और पढ़ो »

किसी की तरफ़ से उस की इजाज़त के बग़ैर वाजिब क़ुर्बानी करना

सवाल – अगर किसी की वाजिब क़ुर्बानी उस की इजाज़त के बग़ैर कर दी जाए, तो क्या उस की वाजिब क़ुर्बानी दुरूस्त होगी?

और पढ़ो »